Internet Kya Hai? What is Internet in Hindi ?

Internet Kya Hai? What is Internet in Hindi ?

2

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आजकल विज्ञान अपने टेक्नोलॉजी (Science & Technology) में कदम इतनी तेजी से बढ़ा रहा है कि हर दिन नये-नये gadgets, मशीन, साफ्टवेयर और बहुत प्रकार के चीजों से हम रूबरू नहीं हो पाते हैं। अविष्कारों की बात करें तो दुनिया में अनगिनत अविष्कार है।आज की तारीख में देखे तो इन्टरनेट (Internet) दुनिया का सबसे बड़ा अविष्कार है। अगर ये कहे कि इन्टरनेट एक दुनिया बन चुकी है तो गलत नहीं होगा। तो आइए जानते हैं इन्टरनेट के बारे में।

इन्टरनेट क्या है ( What is Internet) :

   इन्टरनेट को सरल शब्दों में कहें तो इन्टरनेट का मतलब इन्टरनेशनल नेटवर्क  इन्टरनेट दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है। इन्टरनेट में दुनिया के लाखों कम्प्यूटर आपस में नेटवर्क के माध्यम से जुड़े होते हैं। इसको नेटवर्कों का नेटवर्क भी कहा जाता है। इसमें इन्टरनेट का स्वामी, कोई व्यक्ति नहीं होता है।

What is internet

जिस तरह रेलगाड़ी, हवाई जहाज या टेलीफोन कम्पनियां कार्य करती है और स्वामित्व का नियंत्रण होता है वैसा इन्टरनेट में नहीं होता है। विभिन्न देश अपने नागरिकों के लिए अलग-अलग नियम बनाए हैं।

यह व्यक्तिगत स्वतंत्रता में एक महत्वपूर्ण कदम है। इसमें प्रत्येक व्यक्ति अपनी इच्छानुसार इन्टरनेट पर कार्य कर सकता है।

जैसे -Downloading, Uploading, searching, game, shopping, news, net meeting इत्यादि। इन्टरनेट एक ऐसा विश्वव्यापी नेटवर्क है, जिसमें सूचनाओं का एक स्थान से दूसरे स्थान पर आदान-प्रदान बहुत सरलता से किया जा सकता है।

इन्टरनेट का इतिहास (History of Internet)-

  इन्टरनेट की शुरुआत American Research Project Agency (ARPA) द्वारा सन् 1969  में  ARPANET के नाम से हुई। यह अमेरिकी सेना के लिए गुप्त सूचना के अदान- प्रदान करने के लिए इसका निर्माण हुआ जो युद्ध के दौरान बिना किसी व्यवधान के सूचनाओं का आदान- प्रदान हो सके। सन् 1972 में अमेरिका शोध विश्वविद्यालय द्वारा ईमेल जैसे सुविधाओं के लिए कुछ नेटवर्क बनाए।

लेकिन नेटवर्क की एक बड़ी समस्या की अलग-अलग प्रयोग के लिए अलग-अलग आपरेटिंग सिस्टम की जरुरत पड़ती थी अतः उनके संचार में मुश्किल हो जाती थी। इसके बाद सन् 1984 में एक प्रोटोकॉल TCP/IP(Transmission Control Protocol/Internet Protocol) बनाया गया।इसके बाद ऐसी व्यवस्था की कमी महसूस होने लगी जो सूचनाओं को जोड़ सके।

इसके बाद सन् 1989 में टीम बर्नर्स ली द्वारा www (world wide Web) विश्वव्यापी वेब की खोज की गई। इस उपकरण ने विभिन्न वैज्ञानिकों एवं कम्प्यूटर से प्राप्त टेक्स्ट मैसेज को आपस में सम्बद्ध करने का मार्ग प्रशस्त कर दिया।

कम्प्यूटर की आपसी असंगतता को दूर करने के लिए व लिंक स्थापित करने के लिए Hypertext का जन्म हुआ।इसमें एक सूचना को श्रेणीबद्ध एवं पदानुक्रम करने के बजाय एक वेब के समान ढ़ाचा दिया जाता था जिसमें सभी सूचनाएं एक दूसरे से जुड़ी होती थी तथा इसमें webpage, HTML,Java script,VB Script भाषा में लिखे जाने लगे।

इन्टरनेट कनेक्शन के लिए आवश्यक उपकरण

इन्टरनेट को इस्तेमाल करने के लिए आपको निम्नलिखित उपकरणों की आवश्यकता पड़ती है –

कम्प्यूटरComputer) – कोई अच्छा योग्य IBM, Macintosh या Unix कम्प्यूटर जिसकी हार्डडिस्क 2GBया अधिक हो,16 GB RAMहो और 200MHzProcessor हो।

माडेम(Modem)- माडेम यह साधन है जो इन्टरनेट पर डाटा स्थानांतरित करता है।माडेम डाटा को नेटवर्क तक पहुँचाता है।

वेब ब्राउज़र (Web browser)- जो साफ्टवेयर वेब को खोलने के लिए अथवा उस पर कोई भी कार्य करने के लिए इस्तेमाल होता है, उसे ब्राउज़र कहते हैं।आजकल सबसे लोकप्रिय ब्राउज़र्स  Chrome, Safari , Netscape, Navigator और Microsoft Internet Explorer 5.01 है।

टेलीफोन लाइन(Telephone line) – इन्टरनेट से जुडऩे के लिए टेलीफोन कनेक्शन की भी आवश्यकता होती है।यदि आपने कालवेटिंग सुविधा रखी है, तो सभी डाटा तथा सूचनाएं टेलीफोन लाइन के माध्यम से एनालॉग सिग्नल द्वारा पास होती है।

 इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर (Internet services Provider) – यदि आपके पास web browser के साथ कम्प्यूटर है और टेलीफोन लाइन तथा modemभी है तो आपको बस इन्टरनेट कनेक्शन की आवश्यकता है।आप विभिन्न Internet services provider (ISP) द्वारा कनेक्शन पा सकते है।

नेट पर सर्फिंग (Surfing of net)- कई लोग सर्फिंग का अर्थ sites को देखना मानते हैं।इन्टरनेट विभिन्न जानकारियां एक आसानी से उपयोग किये जाने वाले सिस्टम में रखता है।इस सिस्टम को हम World Wide Web(www) या वेब कहते हैं। वेब विभिन्न वेबसाइट तथा वेबपेज को माउस द्वारा सिर्फ एक कि्ल्क पर खोल देता है और उनमें उपलब्ध जानकारी   का लाभ उठा सकते हैं।

आज की दुनिया में इन्टरनेट का उपयोग हर कोई कर रहा है।इन्टरनेट ने मनुष्य के जीवन को बहुत ही सरल और ज्ञानवर्धक बनाया है।आज हम इन्टरनेट की ही सहायता से देश-दुनिया से जुड़ पा रहे हैं और विश्व के कोने-कोने का खबर कुछ ही समय में पा रहे हैं।

आज हम इन्टरनेट का उपयोग व्यापार, शिक्षा, चिकित्सा, परिवहन,स्कूलों, कालेजों,पारम्परिक कार्यक्रम और निजी जीवन के क्षेत्र में कर रहे हैं।लेकिन क्या आपको पता है कि इन्टरनेट से जितना फायदा हुआ है उतना ही इससे नुकसान भी।

इन्टरनेट के फायदे– Advantages of Internet: 

 

1.इन्टरनेट की मदद से आसानी से हम घर बैठे सभी बिलों का भुगतान कर सकते हैं।इन्टरनेट पर हम क्रेडिट कार्ड और नेटबैकिंग की मदद से कुछ ही समय में बिजली, टेलीफोन ,डीटीएच या आनलाइन शापिंग के बिलों से जुड़े सभी का भुगतान कर सकते हैं।

2.हम किसी भी कोने में बैठे हो एक स्थान से दुसरे स्थान पर सूचना कुछ ही समय में भेज और प्राप्त कर सकते हैं। आज इन्टरनेट पर वाइस काल, ईमेल, विडिओ काल कर सकते हैं।

3.कुछ ऐसी बड़ी कम्पनियाँ है जो अपने कर्मचारियों के लिए घर बैठे इन्टरनेट के माध्यम से कार्य करने की सुविधा देती है। कई ऐसी आनलाइन मार्केटिंग और कम्युनिकेशन से जुड़ी कम्पनियां है जिसके कर्मचारी अपने घर पर ही लेपटॉप या मोबाइल पर इन्टरनेट के माध्यम से कार्य करते हैं।

4. इन्टरनेट की मदद से आप घर बैठे ही आनलाइन शापिंग कर सकते हैं।

5. इन्टरनेट की मदद से आप व्यापार को बढ़ा सकते हैं। विश्व की सभी कम्पनियां आनलाइन एडवटाइजिंग, मार्केटिंग और वेबसाइट की मदद से अपने व्यापार को इन्टरनेट के माध्यम से पूरे विश्व भर में फैलाने की कोशिश कर रहे हैं।

6.इन्टरनेट की मदद से आप घर बैठे ही किसी भी जाब पोर्टल के वेबसाइट पर जाकर किसी भी नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं और उनके वेबसाइट पर जाकर नौकरी के लिए बार-बार जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

7.आप फ्रिलांसिंग करके पैसा कमा सकते हैं।फ्रिलांसिंग का मतलब होता है इन्टरनेट पर अपने कौशल का उपयोग करके पैसा कमाना।आज इन्टरनेट पर वेबसाइट बनाकर आनलाइन सर्वे, ब्लागिंग, या युटूब पर वीडियो बनाकर पैसा कमा रहे हैं।और कई अन्य ऐसे तरीक़े हैं जिनकी मदद से इन्टरनेट पर पैसा कमाया जा सकता है।

8.इस आधुनिक युग में अब इन्टरनेट हर घर में मनोरंजन का साधन बन गया हैआज हम इन्टरनेट की मदद से खाली समय में गाना सुन सकते है, विडिओ देख सकते हैं,गेम खेल सकते हैं  तथा मोबाइल से आनलाइन टेलीविजन भी दख सकते हैं।

9.आजकल बहुत अधिक सोशल नेटवर्किंग साइट्स जैसे -Facebook, Whatsapp, twitter, Instagram आदि चीजों का इस्तेमाल किया जाता है।

10.इन्टरनेट एक unlimited information का सोर्स है जिससे हम किसी भी चीज के बारे में सर्च कर सकते है तथा उसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

इन्टरनेट के नुकसान

1.जो लोग बिना किसी काम के अपना समय इन्टरनेट पर बर्बाद करते हैं उनके लिए यह सबसे बड़ा नुकसान है।हमें इन्टरनेट को समय के अनुसार उपयोग करना चाहिए।

2.इन्टरनेट फ्री नहीं होता हैं।इसका कनेक्शन हमें तभी लेना चाहिए जब हमें इसकी जरूरत हो।क्योंकि लगभग सभी इन्टरनेट प्रदान करने वाली कम्पनियां इन्टरनेट का चार्ज लेते है।

3.इन्टरनेट की अधिक लत से भी हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है।इससे कई बिमारियाँ जैसे-वजन बढ़ना, पैर व हाथ में दर्द, आखों में जलन तथा सूखापन, कमर में दर्द आदि हो जाते हैं।

4.बच्चों पर  इन्टरनेट का का बहुत ही बुरा असर पड़ता है।बच्चे पढा़ई पर कम ध्यान न देकर इन्टरनेट पर अपना समय अधिक बिताते हैं जो कि उनके मानसिक स्थिति को हानि पहुचाता है।

  1. इन्टरनेट पर कई साइट ऐसे है जिसमें अश्लील सामग्री रहतें है जिसका बुरा प्रभाव आजकल के बच्चों और युवा पीढ़ी पर रहा है।इस तरह की साइट्स देखकर लोग गलत राह पर बढ़ते हैं और अपराध की तरफ अग्रसर हो रहे हैं।
  2. इन्टरनेट के कारण आपकी गोपनीय डाकुमेंट्स या आपका डाटा की चोरी भी हो सकती है।

7.आपका कम्प्यूटर कभी-कभी वायरस के कारण धीरे चलने लगता है। यह वायरस भी इन्टरनेट के द्वारा ही होता है।तथा बहुत सारे हैकर्स होते हैं जो हमारे कम्प्यूटर को नुकसान पहुंचाते हैं।

दोस्तों आज की पोस्ट में हमनें इन्टरनेट के बारे में तथा उसके फायदे व नुकसान के बारे में बताया। उम्मीद है आपको ये पोस्ट अच्छी लगी होगी। अगर आपको इससे जुड़ा कोई सवाल है तो कम्मेंट बाक्स मे जाकर पुछ सकते हैं।

2 Comments
  1. Jai prakash says

    Good information….

Leave A Reply

Your email address will not be published.