Keyboard क्या है ? Keyboard keys की पूरी जानकारी –

दोस्तों आप लोगों ने की-बोर्ड (Keyboard) के बारें में सुना ही होगा यह कम्प्यूटर का एक strong इनपुट डिवाइस है। इसका प्रयोग कम्प्यूटर और लैपटॉप में डाटाबेस के  कार्यो में किया जाता है और साथ ही साथ टाइपिंग में  भी इसका प्रयोग करते है आज इस पोस्ट में इसके बारें में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे।

Keyboard

की-बोर्ड (Keyboard)-

की-बोर्ड (Keyboard) एक टाइपराइटर की एक तरह यंत्र होता है लेकिन इनमें टाइपराइटर से ज्यादा बटन होते हैं। यह कम्प्यूटर की एक प्रमुख  इनपुट डिवाइस है।

प्रारम्भ में पीसी-एक्सटी के साथ जो की-बोर्ड प्रयोग किया जाता था उसमे 84 keys होती थी। लेकिन आजकल पेंटियम प्रोसेसर वाले कम्प्यूटर के साथ हम जो की-बोर्ड (Keyboard) का प्रयोग करते है। उसमें 105 से ज्यादा keys होती है।

की-बोर्ड (Keyboard) को कम्प्यूटर से जोड़ने के लिए एक विशेष जगह पोर्ट  होता है । आज-कल USB (Universal serial bus) keyboard के साथ-साथ वायरलेस keyboard भी उपलब्ध है जिसको आपको वायर से जोड़ने कि आवश्यकता नहीं है ।

की-बोर्ड (Keyboard) में Keys and Symbol-

Windows key- keyboard में Alt key के बगल में 4 pane वाला विंडोज बटन होता है।

Esc- Escape key

F1 to F12- फंक्शन कीज़ (Function key)

Tab- Tabulator key

Caps Lock- Caps Lock key

Shift- shift key

Ctrl- Control key

Fn- Function key

Alt- Alternate key

Spacebar- Spacebar key

Arrows- Left, Right, Up and Down

Backspace- Backspace key

Del/Delete- Delete key

Enter- Enter key

PrtScn- Print Screen key

Scroll lock- Scroll lock key

Pause- Pause key

Break- Break key

Insert- Insert key

Home- Home key

Page Up- Page Up (Pn Up) key

Page Down- Page Down (Pg Dn) key

End- End key

Num Lock- Num Lock key

~      Tilde

`       Left Quote open

!       Exclamation Mark or Null sign

@      At the rate

#       Hash sign

%      Percentage sign

#       Dollar sign

¥       Yuan sign

  •  Micro or Section

£       Pond sign

€       Euro sign

°        Degree

^        Caret or Circumflex

&        And sign or Ampersand

*        Asterisk (Multiplication sign)

( )       Open and Close Parenthesis

_        Underscore

–         Dash sign

+         Plus sign

=         Equal sign

{ }        Open and Close Brace Squiggly Brackets or Open and Close Curly Brackets

[ ]        Open and Closed Brackets

|          Vertical Bar

\          Backslash

/          Forward slash

?          Question Mark sign

:          Colon sign

;          Semicolon sign

“   ”      Double Inverted Commas or Quote Quotation Mark

‘            Single Quote or Apostrophe

<          Less Than or Angle Brackets

>          Greater Than or Angle Brackets

,            Commas

.            Period Dot or Full Stop

सामान्य की-बोर्ड (Keyboard) में keys के प्रकार-

Alphanumeric  Keys-

अल्फाबेट कीज़ (Alphabet Keys)-

इसमें A से Z तक कुल 26 अक्षर (Letters) होते है जिसका प्रयोग हम किसी शब्द को लिखने में करते है।

आंकिक कीज़ (Numeric Keys)-

की-बोर्ड (Keyboard) में 0 से 9 तक संख्या अंकित होती है यह संख्या ऊपर से दूसरी पंक्ति में तथा की-बोर्ड (Keyboard) के दाहिने तरफ होती है साथ ही साथ इसमें अर्थमेटिक कीज़ (+,-,*,/) Enter, Del, End, PgUp, PgDn, Num Lock, Home, Ins और कुछ विशेष कीज़ [जैसे- !,@,#,$,%,^,&,*, ( , )] भी सम्मिलित होती है ।

फंक्शन कीज़ (Function Keys)-

F1 से F12 तक अंकित फंक्शन कीज़ की-बोर्ड (Keyboard) की सबसे ऊपरी पंक्ति में होती है । प्रत्येक फंक्शन कीज़ स्वयं में एक आदेश (कमांड) के बराबर होती है इसका प्रयोग शर्त कट और समय की बचत के लिए किया जाता है ।

कर्सर कंट्रोल कीज़ (Cursor Control Keys)-

की-बोर्ड (Keyboard) में इस कीज़ का प्रयोग कर्सर को स्क्रीन पर कहीं ले जाने के लिए किया जाता है । यह कीज़ चार विभिन्न दिशाओं की ओर संकेत करती है । इसे arrow keys भी कहा जाता है । इसमें Left (  ) Right (  ) Up ( ) Down ( ) keys होती है।

कर्सर कंट्रोल कीज़ के ऊपर की कीज़-

इसमें Cursor को नियंत्रित करने के लिए की-बोर्ड (Keyboard) चार  और बटन होते है।

Home keys-

किसी Document में Cursor को उसी पंक्ति में शुरू में लाने के लिए इसका प्रयोग करते है। की-बोर्ड (Keyboard) में  Ctrl+Home का प्रयोग करके डॉक्यूमेंट के ऊपर पहुँच जाते है।

End keys-

किसी Document में Cursor को उसी पंक्ति के अंत में लाने के लिए इसका प्रयोग करते है। की-बोर्ड (Keyboard) में  Ctrl+End का प्रयोग करके डॉक्यूमेंट के अंत में पहुँच जाते है।

Page Up keys-

यह कर्सर को एक पेज पीछे या पिछले पेज पर ले जाने के लिए किया जाता है।

Page Down keys-

यह कर्सर को एक पेज आगे ले जाने के लिए किया जाता है।

Special Purpose keys-

Caps Lock keys-

यह टॉगल बटन है इसको on करने पर सक्रिय और off करने पर निष्क्रिय हो जाता है। यह on होने पर letters को Uppercase और off होने पर Lowercase में लिखना आरम्भ हो जाता है।

Num Lock keys-

यह टॉगल बटन है इसको on करने पर सक्रिय और off करने पर निष्क्रिय हो जाता है। यह on होने पर Number keys सक्रीय और off होने पर Number keys निष्क्रिय हो जाता है ।

Insert keys-

इसका प्रयोग टाइपिंग करते समय दो शब्दों अक्षरों के बीच में एक शब्द या अक्षर को शामिल करने के लिए किया जाता है। इसे एक बार प्रेस करना होता है। इसे off mode से on mode में करने के लिए दुबारा प्रेस करना होता है।

Delete keys-

कर्सर keys के ठीक दायीं ओर के अक्षर, चिह्न या जगह को मिटाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। इसे द्वारा चयन किया हुआ (selected) शब्द, लाइन, पेज, फाइल या ड्राइव को मिटाया जा सकता है।

Shift keys-

इस keys को दबाकर रखने से किसी अक्षर को दबाने पर वह Uppercase में लिखता है यह क्रिया Caps Lock on की दशा में उल्टी होती है। जिन keys पर दो चिह्न या संकेत बने होते है shift के साथ उस keys को प्रेस करने पर ऊपर के चिह्न या संकेत लिखे जाते है ।

Enter keys-

इस keys द्वारा User द्वारा दी गयी कमांड की पुष्टि करना तथा उसे Execute (क्रियांवित) करना इसका मुख्य कार्य है। Windows में किसी भी कमांड को चुनने के बाद Enter दबाने से वह कमांड सक्रिय हो जाता है। document में लिखते समय पैराग्राफ बदलने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

Tab key-

इसका पूरा नाम Tabulator key कहते है इसका कार्य कर्सर को एक निश्चित दूरी पर एक बार में ले जाना है और Browser page पर दूसरे लिंक पर ले जाता है इससे किसी डायलॉक बॉक्स में एक के दूसरे में ले जाने में इसका प्रयोग किया जाता है ।

Esc key-

इसका पूरा नाम Escape key होता है किसी प्रोग्राम से बाहर आने में इसका प्रयोग किया जाता है। Ctrl के साथ इसका प्रयोग करने पर Start मेनू खुल जाता है।

Space Bar key-

इसका प्रयोग दो शब्दों के बीच में जगह बनाने के लिए किया जाता है।

Backspace key-

कर्सर के ठीक बायीं ओर के अक्षर, चिह्न,या जगह को मिटाने के लिए किया जाता है ।

Ctrl keys-

इसका पूरा नाम Control key कहते है यह किसी और बटन के साथ मिलकर कार्य करता है इसका कार्य विभिन्न सॉफ्टवेर के अनुसार बदलता रहता है । जैसे- Ctrl+C कापी, Ctrl+V पेस्ट और Ctrl+Alt+Del एक साथ दबाने से task मैनेजर का विंडोज खुलता है ।

Print Screen key-

इस key को shift के साथ प्रयोग करके Screen पर प्रदर्शित फाइल या फोटो को प्रिंटर के द्वारा print किया जाता है ।

Scroll lock key-

यह text या run हो रहे प्रोग्राम को अस्थायी रूप से एक स्थान पर रोकता है तथा दुबारा सक्रिय करने के लिए इसे प्रेस करना होता है ।

Pause key-

यह key किसी प्रोग्राम को अस्थायी तौर पर रोक देता है फिर प्रेस करने पर प्रोग्राम चालू हो जाता है इसको प्रयोग कम्प्यूटर गेम में किया जाता है ।

Alt key-

इस keys का प्रयोग विशेष कार्य के लिए किसी दूसरी keys के साथ मिलकर किया जाता है। जैसे- Alt+F4 को एक साथ प्रेस करने पर चल रहा प्रोग्राम बंद हो जाता है ।

दोस्तों आज इस पोस्ट में की-बोर्ड (Keyboard) के बारें में पूरी जानकारी दी गयी यह जानकारी पसंद आये तो अपने दोस्तों में शेयर जरुर करें ।  धन्यवाद

 

 

 

 

 

 

Share Karo Na !
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

1 thought on “Keyboard क्या है ? Keyboard keys की पूरी जानकारी –”

Leave a Comment